गुरुवार, 22 जून 2017

किस महीने में पैदा होने वाले लोगों को कौन सी बीमारी

वैज्ञानिकों का दावा है कि सितंबर में पैदा होने वाले सबसे अधिक बीमार होते हैं और जिन महिलाओं का जनम  जुलाई में हुआ है उन्हें ब्लड प्रेशर का खतरा 27% ज्यादा होता है.

यह दावा स्पेन के वैज्ञानिकों ने किया है। उन्होंने बताया है कि किस महीने में पैदा होने वाले लोगों को कौन सी बीमारी होती है। साथ ही महीनों के आधार पर ऐसी 27 बीमारियों की पहचान भी की है, जो पुरुष-महिलाओं में होती है।

वैज्ञानिकों के अनुसार सितंबर में पैदा होने बच्चे सबसे ज्यादा बीमार होते हैं। उन्हें गंभीर बीमारी का खतरा रहता है। सितंबर में पैदा होने वाले पुरुषों को सबसे ज्यादा थाॅयराइड की समस्या होती है। उनमें यह बीमारी जनवरी में पैदा होने वालों से 3 गुना ज्यादा होती है।

जून में पैदा होने वाले पुरुषों में 34% डिप्रेशन व 22% तक कमर दर्द होने का खतरा कम होता है। इसी तरह जुलाई में पैदा होने वाली महिलाओं में हाई ब्लड प्रेशर का खतरा 27% तक अधिक होता है, साथ ही वे 40% तक ज्यादा असंयमी होती हैं। जो महिलाएं जून में पैदा होती हैं, उनमें 33% माइग्रेन और 35% तक मेनोपॉस की समस्या का खतरा कम होता है।

यह दावा यूनिवर्सिटी ऑफ एलिकैंटे के वैज्ञानिकों ने 30 हजार लोगों पर अध्ययन के बाद किया है।

खोजकर्ता प्रोफेसर जोस एंटोनियो क्वेसडा कहते हैं 'अध्ययन में कई महत्वपूर्ण तथ्य मिले हैं, जिनसे पता चला कि किस तरह पैदा होने के महीने और बीमारियाें में आपस में संबंध हैं।

जैसे अल्ट्रावायलेट किरणें, विटामिन-डी, वायरस, एलर्जी आदि का, जोकि बच्चेदानी में शिशु के शुरुआती 1 महीने की जिंदगी प्रभावित करते हैं।'

यह हिसाब किताब कुछ यूं है!

2 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा रविवार (25-06-2016) को "हिन्दी के ठेकेदारों की हिन्दी" (चर्चा अंक-2649) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा रविवार (25-06-2016) को "हिन्दी के ठेकेदारों की हिन्दी" (चर्चा अंक-2649) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं